टोटीं बंद करों, आने वाले कल के लिए !

Spread Awarness

7. फरवरी. 2021 को क्लब की ओर से शोभापुर गांव, मेरठ में अपनी मुहिम ‘पानी की बात’ के तहत जल चौपाल लगाकर गांववासियों से जल संवाद किया गया। टीम ने सभी को एकत्र कर जल संरक्षण का महत्व बताया व मुख्य रूप से मौजूद रहे बच्चों को पानी बचाने के लिए प्रेरित किया।

शोभापुर गांव में लगाई “जल चौपाल”, लोगों से जल संवाद किया।

क्लब के संस्थापक – सावन कनौजिया ने कहा कि आज यह समय की मांग है, कि हम पानी को बचाएं। आज अपने निजी स्वार्थ के कारण पर्यावरण से हमें प्राप्त हुए इस अमूल्य ‘पानी’ को हम व्यर्थ ही बहाए जा रहे हैं जो कि एक खतरे की घंटी है, यदि इस विषय को आज गंभीरता से नहीं लिया तो वह दिन दूर नहीं जब हमें पानी की एक-एक बूंद के लिए तरसना होगा। हर घर बचाना है जल इस नारे पर जोर देते हुए उन्होंने मुख्य रूप से बच्चों व बड़ों को समझाया कि पानी को बचाना इसलिए आवश्यक है, क्योंकि पानी हमारे जीवन का आधार है और पानी के बिना हमारी प्रकृति असंतुलित हो जाएगी, उन्होंने कहा कि आज पानी को बचाने के लिए हमें खुद से शुरुआत करनी होगी और फिर दूसरों को इसके लिए प्रेरित करना होगा। उन्होंने कहा कि अपने स्तर से शुरुआत करते हुए हम यह कोशिश करें कि गांव में जो जोहड़ या तालाब हैं उन्हें गंदा ना करें, उनकी स्वच्छता का ख्याल रखें व यदि आपके आसपास कोई पानी बहाता है तो उसे समझाएं कि वह पानी को ना बहाएं इस प्रकार हमें जल संरक्षण के लिए कार्य करना है।

टीम ने “जल संरक्षण” हेतु लोगों से आह्वान किया।

क्लब की ओर से “टोटीं बंद करो” नारा दिया गया, जिसमें टीम ने गांववासियों से निवेदन किया कि जहां जहां आपको टोटीं/ नल से व्यर्थ पानी बहता हुआ दिखे उसे तभी बंद करें। अंत में सभी ने जल संरक्षण की शपथ ली व पानी की हर एक बूंद बचाने को लेकर दूसरे लोगों को भी प्रेरित करेंगे ऐसा संकल्प लिया। आइए आप और हम मिलकर यह निश्चय कर लें कि पानी को बचाने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे और अन्य लोगों को भी इसे बचाने हेतु जागरुक करेंगे।